S-400-सुखोई-मिग: रूस दौरे पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, हथियारों-विमानों की जल्द डिलीवरी पर करेंगे बातचीत

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इन दिनों रूस यात्रा पर हैं, जहां वो रूस की विक्ट्री-डे परेड के जश्न में शामिल होंगे। सामरिक दृष्टि से रक्षा मंत्री राजनाथ का ये दौरा काफी अहम है।

भारत और चीन के बीच बॉर्डर पर इन दिनों तनाव की स्थिति बनी हुई है। लद्दाख में दोनों देशों की सेनाएं लगभग पिछले डेढ़ महीने से आमने-सामने हैं, उसके बाद पिछले हफ्ते हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए। इसी बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रूस दौरे पर है, जहां उन्हें विक्ट्री-डे परेड में शामिल होना है, लेकिन रूस के दौरे का एक और भी कारण है, क्योंकि इस दौरान भारत की ओर से रूस से जरूरी हथियारों की डिलीवरी जल्द करने को कहा जाएगा।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बीते सोमवार को ही रूस पहुंचे, आज वह बातचीत का सिलसिला शुरू करेंगे और बुधवार को विक्ट्री-डे की परेड होनी है। इस दौरे में भारत की ओर से S-400 डिफेंस सिस्टम, सुखोई-30 MKIs, मिग-29 की जल्द डिलीवरी की अपील की जा सकती है।

रूस-भारत की दोस्ती

रूस भारत का पुराना दोस्त रहा है और आज भी सबसे महत्वपूर्ण हथियार भारत रूस से ही लेता है। ऐसे में जब भारत और चीन के बीच स्थिति गंभीर बनी हुई है, तब राजनाथ सिंह का ये दौरा काफी मायने रखता है। सूत्रों के मुताबिक रक्षा मंत्री रूस से अपील करेंगे कि जो ऑर्डर दिए गए हैं, उनकी डिलीवरी तुरंत हवाई मार्ग से करवा दी जाए, जिससे जरूरत पड़ने पर उसका इस्तेमाल किया जा सके।

बता दें, भारत पहले ही रूस को काफी सामान का ऑर्डर दे चुका है, जो नियमित वक्त पर समुद्री रास्ते से आना था, लेकिन अब हालात पहले की तरह नहीं है, इसलिए भारत इनकी सप्लाई तुरंत और हवाई मार्ग से चाहता है।

तीनों सेनाओं के लिए होनी है आपूर्ति

बता दें, वायुसेना के लिए सुखोई-30 एमकेआई और मिग-29, वहीं भारतीय नौसेना के लिए मिग-29 के और किलो क्लास की पनडुब्बियां और थल सेना के लिए टी-90 युद्धक टैंकों की आपूर्ति होनी है।

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: