कानपुर कांड का मास्टरमाइंड विकास दुबे को आज पुलिस ने ढेर कर दिया गया है। जब विकास को गाड़ी से कानपुर लाया जा रहा था, उसी समय उसने पुलिसवालों का हथियार छीनकर भागने की कोशिश की और पुलिस एनकाउंटर में मारा गया।

सीने में लगी तीन गोलियां

करीब 12:30 बजे विकास दुबे के शव को पोस्टमॉर्टम हाउस लाया गया है। बताया जा रहा है कि विकास के शव से चार गोली मिली है। उसके सीने में तीन गोली लगी है। कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि एसटीएफ की टीम ने बहादुरी दिखाई।

हेल्थ बुलेटिन में कहा गया, चारों पुलिसकर्मियों की हालत स्थिर है। जिन दो पुलिसकर्मियों को गोली लगी थी, वह खतरे से बाहर हैं। वहीं, एनकाउंटर में मारे गए दुर्दांत अपराधी विकास दुबे का कोरोना सैंपल भी लिया गया है। अब कोरोना की रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्यवाही होगी।

विकास दुबे को ला रही गाड़ी पलटी- एसएसपी दिनेश कुमार

कानपुर के एसएसपी दिनेश कुमार ने कहा कि विकास दुबे को ला रही गाड़ी पलटी थी। वो किसी तरह बाहर निकला और घायल सिपाहियों की पिस्टल छीनकर भागने लगा। फायरिंग हुई और उसे भी गोली लगी। 4 सिपाही भी घायल हैं।

एनकाउंटर की काहनी

कानपुर के भौंती में विकास को ला रही गाड़ी पलटी गई, इस मौके का फायदा उठाकर विकास ने गाड़ी से भागने की कोशिश की। साथ ही उसने पुलिसवालों के हथियार भी छीने। फिर पुलिसवालों ने उसे घेर लिया और सरेंडर करने को कहा, लेकिन तब तक विकास दुबे ने पुलिस पर फायरिंग कर दी।

कानपुर पुलिस और एसटीएफ की जवाबी फायरिंग में विकास दुबे बुरी तरह जख्मी हुआ। उसे कानपुर के हैलट अस्पताल लाया गया। अस्पताल में पहुंचते ही उसे मृत घोषित कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *