भारत की राजधानी दिल्ली में बकरीद के मौके पर पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हुए हैं। पुलिसकर्मियों की ड्यूटी सुबह 5 बजे से ही लगा दी गई थी। हालांकि, इतनी सख्ती के बाद भी 36 पुलिसकर्मी ड्यूटी पर नहीं पहुंचे, जिसकी वजह से उन्हें निलंबित कर दिया गया।

दिल्ली में बढ़ी चौकसी, लगी धारा 144

दिल्ली समेत देश में 15 अगस्त और रामजन्मू भूमि पूजन और त्योहारों को लेकर आतंकी हमले के इनपुट्स हैं। आतंकी हमले के इनपुट्स को लेकर दिल्ली पुलिस अलर्ट हो गई है। दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने अपनी शक्तियों को उपयोग करते हुए दिल्ली में अर्ध-ग्लाइडर, हॉट एयर बैलून और पैरा-मोटर्स जैसे उप-पारंपरिक हवाई प्लेटफार्मों के उड़ाने पर रोक लगा दी है।

इनको लेकर दिल्ली पुलिस ने पूरी दिल्ली में धारा 144 लगा दी है। अगर किसी ने इस आदेश का उल्लंघन किया तो उसके खिलाफ सीआरपीसी धारा 188 के तहत कार्रवाई होगी। ऐसे में 36 जवानों द्वारा ईद के मौके पर इस तरह की ढिलाई बरतने से प्रशासन काफी नाराज है। उसने इन पुलिसकर्मियों को इसीलिए सस्पेंड किया है कि आगे से कोई भी पुलिसवाला ड्यूटी और सुरक्षा के मामले को लेकर समझौता न करें।

आज सुबह 6 बजकर 5 मिनट पर अदा की गई नमाज

देशभर में आज ईद-उल-अजहा यानी की बकरीद का त्योहार मनाया जा रहा है। दिल्ली की जामा मस्जिद में आज सुबह 6 बजकर 5 मिनट पर नमाज अदा की गई। कोरोना संकट के चलते जामा मस्जिद में नमाज अदा करने आए लोगों से बार बार मस्जिद प्रसाशन ने दूरी बनाकर नमाज अदा करने की अपील की। साथ ही जामा मस्जिद में तैनात पुलिसकर्मियों ने थर्मल स्क्रीनिंग करने के बाद ही लोगों को मस्जिद में प्रवेश दिया।

बता दें कि ईद-उल फितर के बाद ईद-उल-अजहा यानी कि बकरीद मुसलमानों का दूसरा सबसे बड़ा पर्व है। दोनों ही मौके पर ईदगाह जाकर या मस्जिदों में विशेष नमाज अदा की जाती है। ईद-उल फितर पर शीर खुरमा बनाने का रिवाज है, जबकि ईद-उल जुहा पर बकरे या फिर दूसरे जानवरों की कुर्बानी दी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *